Peppymode has partnered with Unicorn Commerce for its e-commerce vendor management

Peppymode has partnered with Unicorn Commerce for its e-commerce vendor management

Peppymode is an online shopping e-commerce website where designer clothes, lehengas, kurtas and different types of clothes are available. In the time of epidemic, this website has greatly increased its e-commerce business and has made its branding accessible to the people.

At such a time, this e-commerce company announced a partnership with Unicorn Commerce for its vendor management. According to estimates, the Peppymode website is taking orders from around 3000 customers every hour, every day. Due to which it is becoming difficult to deliver, hence announced a partnership with Unicorn Commerce, a leading company in delivery management and vendor management.

Unicorn Commerce is an organization that partners with vendors. If they have any type of orders, then take care of their inventory and also does delivery management to ensure that it reaches the people at the right time. 

Make in India Program for Promotion

Peppymode and Unicorn Commerce both are companies established in India. And they do not manufacture all their goods. That is why it is the most appropriate way of promotion for the Make in India program. All their items are delivered, the screen speed is very fast.

Their vendor management delivery is being done with e-commerce companies like Flipkart, Mantra, Amazon and many more. At present, Unicorn Commerce has more than 150 leading fashion companies. By joining these, it is very easy for fashion companies to send their products. And they do not face any kind of vendor management problem.

 Seeing this, Peppymode has partnered with Uni Commerce to promote the Make in India program and try to keep itself away from the problem of vendor management and focus only on marketing. According to Peppymode, their marketing budget is constantly increasing and they need to focus more on that and not on vendor management. There is a big problem between the purchase of goods and their inventory, which is called wonder management, for this, if there is a unicorn commerce of established companies, there is a common association of many merchants with it, due to which it is easy to do vendor management.

For this, he first ran a trial period with Unicorn Commerce, which was the most successful. For whose management program, Unicorn will come on commerce base and he will motivate them to do all their vendor management.

The main reason for the kinship in the Vocal for Local program,

Prime Minister Narendra Modi is continuously promoting Vocal for Local in the rallies of Uttar Pradesh Election 2022, for which he says that if businessmen buy their goods from nearby shopkeepers. Unicorn Commerce also follows the same process for management under the Vocal for Local program, under which the best example of this program can be. Unicorn Kiss U said that at this time he wants Peppymode to work to make India’s leading e-commerce website in the coming times.

It will be very interesting to see whether this type of partnership will make any change in India’s commerce industry or the arrival of some kind of new brand is possible in the coming time. Please stay connected with us and support us for similar articles!!

We believe that you may like these articles relevant:

Peppymode ने ई-कॉमर्स वेंडर मैनेजमेंट के लिए यूनिकॉर्न कॉमर्स के साथ की पार्टनरशिप

Peppymode  एक ऑनलाइन शॉपिंग  ई-कॉमर्स वेबसाइट है जहां पर डिजाइनर कपड़े लहंगे कुर्ते और अलग-अलग प्रकार की  वस्त्र मिलते हैं.  महामारी के समय में इस वेबसाइट ने अपने ई-कॉमर्स के बिजनेस को काफी बढ़ाया है और लोगों तक अपनी ब्रांडिंग की है.

ऐसे समय में इस इ कॉमर्स कंपनी ने अपने वेंडर मैनेजमेंट के लिए यूनिकॉर्न कॉमर्स के साथ पार्टनरशिप करने की घोषणा की. अनुमान के मुताबिक Peppymode वेबसाइट हर दिन,  तकरीबन 3000 ग्राहकों के आर्डर हर घंटे ले रही है.  जिसके कारण उसकी डिलीवरी करना मुश्किल हो रहा है इसीलिए डिलीवरी मैनेजमेंट में और वेंडर मैनेजमेंट में अग्रणी कंपनी यूनिकॉर्न कॉमर्स के साथ पार्टनरशिप करने की घोषणा की.

यूनिकॉर्न कॉमर्स एक ऐसी संस्था है जो कि वेंडर के साथ पार्टनरशिप करती है.  यदि उनकी किसी भी प्रकार के आर्डर आते हैं तो उनके इन्वेंटरी की देखभाल तथा सही समय पर,  लोगों तक उसकी पहुंच के लिए डिलीवरी मैनेजमेंट भी करती है. 

मेक इन इंडिया प्रोग्राम फॉर प्रमोशन

Peppymode एवं  यूनिकॉर्न कॉमर्स दोनों ही भारत में स्थापित कंपनियां है.  तथा अपने सभी वस्तुओं का निर्माण नहीं करती हैं.  इसीलिए यह मेक इन इंडिया  प्रोग्राम के लिए सबसे उचित प्रमोशन का जरिया है.  इनकी सभी वस्तुओं की डिलीवरी होती है स्क्रीन की गति काफी तेज होती है.

ई-कॉमर्स फ्लिपकार्ट, मंत्रा,  अमेजॉन और अनेकों प्रकार की कंपनियों के साथ इनकी वेंडर मैनेजमेंट डिलीवरी हो रही है.  इस वक्त यूनिकॉर्न कॉमर्स के पास तकरीबन 15 सौ से अधिक लीडिंग  फैशन कंपनियां है.  इन से जुड़कर के फैशन कंपनियों को अपने प्रोडक्ट को भेजने में काफी आसानी होती है.  और उन्हें किसी भी प्रकार के वेंडर मैनेजमेंट की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ता.

 इसी को देख, Peppymode ने मेक इन इंडिया प्रोग्राम को बढ़ावा देते हुए यूनी कॉमर्स के साथ साझा किया और अपने आप को वेंडर मैनेजमेंट की समस्या से दूर रखने की कोशिश करके सिर्फ और सिर्फ मार्केटिंग के ऊपर ध्यान देने की कोशिश की है.  Peppymode के अनुसार उनके मार्केटिंग का बजट लगातार बढ़ रहा है और उन्हें उसके ऊपर ध्यान देने की ज्यादा जरूरत है ना कि वेंडर मैनेजमेंट के ऊपर.  वस्तु की खरीद बीच और उनकी इन्वेंटरी का होना जो कि वंडर मैनेजमेंट कहलाता है बहुत बड़ी समस्या है इसके लिए अगर कोई स्थापित कंपनियों की यूनिकॉर्न कॉमर्स है उसके साथ कई सारे मर्चेंट का साझा जुड़ा है जिसकी वजह से वेंडर मैनेजमेंट करने में आसानी होती है.

इसके लिए उन्होंने सबसे पहले यूनिकॉर्न कॉमर्स के साथ एक ट्रायल पीरियड को रन किया था जो कि काफी सबसे सफल रहा.  जिसकी मैनेजमेंट प्रोग्राम के लिए, यूनिकॉर्न कॉमर्स बेस पर आएगी और वह उन्हें अपने सभी वेंडर मैनेजमेंट को करने के लिए प्रेरित करेंगे.

Vocal फॉर लोकल प्रोग्राम में रिश्तेदारी का प्रमुख कारण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,  उत्तर प्रदेश इलेक्शन 2022 के रैलियों में लगातार Vocal फॉर लोकल  को प्रमोट कर रहे हैं जिसके लिए वह कहते हैं कि यदि बिजनेसमैन नजदीकी दुकानदारों से अपने सामान की खरीद फरोख्त करें. Vocal फॉर लोकल  प्रोग्राम के तहत मैनेजमेंट के लिए यूनिकॉर्न कॉमर्स भी इसी प्रक्रिया का पालन करती है जिसके तहत इस प्रोग्राम का सबसे बेस्ट एग्जांपल हो सकता है.  यूनिकॉर्न किस यू के द्वारा या कथन कहा गया कि इस वक्त वह चाहते हैं कि Peppymode   आने वाले समय में भारत की लीडिंग ई-कॉमर्स वेबसाइट बनाने के लिए कार्यरत हैं.

यह देखना बहुत ही रोज कर होगा कि क्या इस प्रकार की साझेदारी से आने वाले समय में भारत के की कॉमर्स इंडस्ट्री में किसी प्रकार के बदलाव या किसी प्रकार के नए ब्रांड का आगमन संभव है? कृपया हमारे साथ जुड़े रहे और इसी प्रकार के आर्टिकल्स के लिए हमारा सहयोग करें!!

travelbrandindia
StyleTools