Irctc Server Down Time

Irctc Server Down Time – e-ticketing Maintenance

Are you trying to book your railway ticket in between 11.30 PM to 12.30 AM? then for your kind information, it’s Irctc Server Down Time.

You can’t book any ticket in between these timings. Railway server down time every day between 23.30 hours to 00.30 hours for server maintenance and record update for smooth e-ticketing facility procedure.

In this period, no one can book or overlook the ticket availability on IRCTC website online.

Contents hide

Error while ticket booking in between story

One day in the mid December, I was travelling from New Delhi to Varanasi and looking for railway online ticket. But I was unable and unknown for the routine of irctc server down timings.

Started booking the train ticket on IRCTC official website. It was around 11.20 PM night. I had searched the ticket and decided to book ShivGanga Superfast train Sleeper birth to book.

But at the time of payment gateway, I was unable to book the ticket while ticket fair already paid. It was showing, error in process & refund will be process in between 5-7 days in your back account. Then I had researched on Google and found that Irctc server down time is one hours in the mid night. That’s why, that error happened and received cashback within few days.

So, In case, you will face any issues then please connect with irctc support or irctc customer care or comment us. We will try to help you asap.

Error while ticket booking in between story
Error while ticket booking in between story

Irctc 11.30 to 12.30 server downtime and maintainer mode active

The Indian railways is the second largest rail network in the world and has a passenger base of almost 23 million. With such high volume, it can be difficult to know what time your train departs from station A to arrive at station B. That’s where ircctc comes into play! ircctc provides an easy-to-use interface with train times for all major stations across India.

Many Indian Railways passengers were in for a rude shock when they tried booking tickets on the IRCTC website and found out that it was down from 11.30 to 12.30 due to some technical glitch.

The site has been inaccessible since Saturday morning, which has caused much inconvenience to people who have been trying to book train tickets online ahead of Diwali.

The Central Railway officials said that the issue cropped up after a power failure in one of its servers early Saturday morning, but had not yet resolved the problem by mid-day despite frantic efforts by engineers and technicians at their headquarters near Churchgate station in Mumbai’s western suburbs.

They are upgrading their servers frequently.

What is the maintenance time of IRCTC?

The general question of people on our website is that what is the maintenance time of IRCTC, which side and till which time we cannot book online?

The direct answer is that IRCTC’s servers are maintained on the IRCTC website from 11:45 to 12:20 at night and for this they require about 5 hours. Under the maintenance time of this IRCTC, you cannot do any kind of booking and the website is liked but there is no commerce activity of any kind.

So if you are looking to book, then keep these things in mind that you should make your booking before 11:45 at night and or after 12:20 at night.

Why is it necessary to maintain the IRCTC website?

According to IRCTC data, more than 12 lakh tickets are booked. Bookings of Tatkal, Second Class, Sleeper Class, AC, Luggage and many more are included. Most of these also include booking through online booking or counter ticket. In such a situation, maintaining and requesting data for such a large website so that any type of payment system can easily handle any type of attack on the server.

 That is why from 11:45 to 12:20, all the data is downloaded and gone once to see if there is any error of any kind. And if any kind of error or any kind of mistake is required then other work is done to save it in advance.

 The second major reason for this is also that the IRCTC website and their facilities are used by the entire Indian Railways which are all over India worldwide. This break is used to take these activities uniformly at a time. This IRCTC server down time is a day to day activity that is established. 

What is IRCTC Server Error?

According to the facts and time given above, what is the time when the website is maintained daily, but in spite of this, sometimes when you are booking tickets, an IRCTC server error message comes. That’s why our readers asked, what is this IRCTC server error? 

 So if you come to know that if you book tickets early, sometimes due to your payment process or too much traffic at that time, IRCTC website gets down or server error appears on IRCTC’s back end. In such a condition that it is done on your payment and you still do not get the ticket. Two IRCTC servers identify which type of payment has failed or their ticket booking has not been done. 

 If your tickets are not booked and you have made the payment, then your payment will be returned to your same account within 2 to 7 days. But if you were booking and your payment was not done then in that case only the server will show and if the ticket is not booked you will get such a message. In this condition neither you suffered any loss nor any kind of confirmed berth was given on IRCTC website. This condition is called not to establish any kind of damages on the IRCTC website.

 However, if you still face any kind of difficulty then you can call the customer service support or you can contact the given chatbot. 

Why do IRCTC servers go down while booking Tatkal tickets? While the tickets of the touts are booked?

 This is a question that all people ask us during their questions. He says sir when I come to book a ticket under broker then we get the ticket confirmed while at the same time if we try to book a ticket by ourselves on IRCTC website then either our payment would have failed. Either the IRCTC site goes down, and in the end, either our ticket is not confirmed.

 While we book tatkal tickets through brokers, don’t know how they get your confirmed tickets and your desired seat in the train you want. Does it have any secrets?

Use of different types of software by brokers For booking IRCTC online tickets,

Nowadays, big cybercriminals, software developers and different types of packages are sold to these brokers in the market. Under this software, brokers keep themselves ready at the time of tatkal booking, through the auto filling system method of their multiple credit card accounts and the importance of booking tickets online.

 Their software is so lightweight that they automate all the things. An ordinary person goes to the IRCTC website and logins his account, after that he searches about the train ticket by entering the destination. Asks whether the ticket is confirmed or not, if there is space, then he clicks on the book now button. After this, he has to fill in his details, which takes him 1 minute.

Process is taking time to complete the value

A normal person then goes to the payment method and applies. In which he wants to use his payment method on the relevant website and then after that the payment is successful and the website comes back again for the confirmation page for booking. This entire process and time takes about 3 to 5 minutes, whereas, IRCTC brokers do this work through their software for multiple passengers at the same time and use multiple payment methods at the same time.

Due to IRCTC’s software, it takes very less time for them to fit the information of the people, which saves their time and they do this work within about 10 seconds, the next method of payment is their already linked account in it. So that the money is auto deducted only on clicking, which again completes this process within their time of about 30 seconds. Due to which there is a normal where it takes 3 to 5 minutes, while a broker takes the maximum time of about 30 seconds to book a ticket.

 Their software is lightweight and is linked to the IRCTC website, due to which they get tickets very easily and quickly. We hope you liked our answer to this question.

What is the cost of IRCTC website software?

Although we also do not have the exact information about it, according to a newspaper it was told that IRCTC’s software Dalal uses is available for around ₹ 5000 to ₹ 8000.

This is a very big brokerage and a big market which is being done by all the online cyber cafe brokers at the moment. 

What is the government doing to avoid the fraud of IRCTC ticket booking?

The government is constantly making efforts to avoid such online ticket brokers and is implementing new rules. Different types of terms and conditions are applicable in these:

  • A person can book only two tickets at a time and a maximum of 7 in a week,
  • who is booking ticket he/she will have to tell his Aadhar ID card,
  • the user account of every person on his mobile. It is getting activated only after SMS verification of

Indian Railways is trying all kinds of solutions and gradually people are also avoiding this type of fraud, due to which now Indian website IRCTC has become very fast and people are using it. are being used.

 There are many types of problems in each of the disciplines, but the one who overcomes these problems and moves forward is the winner. With its similar attitude and similar thinking, IRCTC website is constantly writing new dimensions and continuously increasing the revenue of Indian Railways.

Due to the IRCTC website, the epidemic came, so it is not the biggest resource that a person can book his ticket without coming in contact with anyone and today even an ordinary human being can live anywhere without having to go to the railway ticket counter. could work.

Due to this, there has been a huge boom in Indian tourism as well as the Modi government of India has implemented many new projects. A big reason for the increase in the Indian pattern is the punctuality, speed and cleanliness of today’s trains. The facilities which were earlier available at the airport, now the same facilities are available at Indian railway stations.

 Cleanliness was a very big issue which Indian Railways has come up with very efficiently. 

We believe that you may like these articles relevant:

आईआरसीटीसी का मेंटेनेंस टाइम क्या है? (हिंदी में)

हमारी वेबसाइट पर लोगों का जनरल सवालिया रहता है कि आईआरसीटीसी किस साइड का मेंटेनेंस टाइम क्या होता है और किस समय तक हम लोग ऑनलाइन बुकिंग नहीं कर सकते?

इसका सीधा जवाब है कि आईआरसीटीसी की वेबसाइट रात को 11:45 से लेकर के 12:20 तक आईआरसीटीसी के  सरवर मेंटेन होते रहते हैं और इसके लिए उन्हें तकरीबन 5 घंटे का समय चाहिए होता है.  इस आईआरसीटीसी के मेंटेनेंस टाइम के तहत आप किसी भी प्रकार की बुकिंग नहीं कर सकते हैं और वेबसाइट लाइक तो होती है लेकिन किसी भी प्रकार की कॉमर्स एक्टिविटी नहीं होती.

इसलिए अगर आप बुकिंग करना चाह रहे हैं तो इन बातों का ध्यान रखें कि आप अपनी बुकिंग को रात को 11:45 से पहले और या फिर रात को 12:20 के बाद करें.

आईआरसीटीसी की वेबसाइट का मेंटेनेंस क्यों जरूरी है?

आईआरसीटीसी के आंकड़ों के अनुसार तकरीबन 12 लाख से ज्यादा टिकट बुक होते हैं.  तत्काल, सेकंड क्लास, स्लीपर क्लास, एसी, लगेज और कई तरह की बुकिंग शामिल है. इनमें अधिकतर ऑनलाइन बुकिंग या फिर काउंटर टिकट के द्वारा बुकिंग भी शामिल होती है.  ऐसे में इतने बड़े वेबसाइट के लिए डाटा को मेंटेन करना और उसे रिक्वेस्ट करते रहना ताकि किसी भी प्रकार के पेमेंट की व्यवस्था सरवर पर किसी भी प्रकार के हो रहे अटैक को आसानी से हैंडल किया जा सके.

 इसीलिए 11:45 से  12:20 तक सभी डाटा को डाउनलोड करके एक बार  जाया जाता है कि कहीं किसी प्रकार की कोई त्रुटि तो नहीं आ रही.  और यदि किसी प्रकार की त्रुटि या किसी प्रकार की छोरी की आवश्यकता होती है तो इससे पहले से ही बचाने के लिए अन्य कार्य किए जाते हैं.

 इसको दूसरा प्रमुख कारण यह भी है कि आईआरसीटीसी की वेबसाइट और उनकी सुविधाओं का इस्तेमाल पूरे भारतीय रेलवे करती है जो कि पूरे भारत विश्वव्यापी हो.  इन्हीं गतिविधियों को एक समय पर एक समान लेने के लिए इस ब्रेक का इस्तेमाल किया जाता है. यह आईआरसीटीसी का सर्वर डाउन टाइम हर दिन प्रतिदिन एक गतिविधि है जो कि स्थापित की जाती है. 

आईआरसीटीसी का सर्वर एरर क्या है?

 ऊपर दिए गए तथ्यों और समय के अनुसार यह कैसा समय होता है जबकि वेबसाइट का  प्रतिदिन मेंटेनेंस होता है लेकिन इसके बावजूद भी कभी आप जब टिकट बुक कर रहे होते हैं तो  आईआरसीटीसी का सर्वर एरर करके मैसेज आता है.  इसीलिए हमारे पाठकों का सवाल था कि यह आईआरसीटीसी का सर्वर एरर क्या है? 

 तो आपको पता तो चले कि जल्दी कभी आप टिकट बुक करते हैं तो कई बार आपकी पेमेंट प्रोसेस या फिर उस समय पर बहुत ज्यादा  ट्रैफिक होने की वजह से आईआरसीटीसी की वेबसाइट डाउन हो जाती है या फिर आईआरसीटीसी के बैक एंड पर सर्वर एरर दिखता है.  ऐसी कंडीशन में जो कि आपकी पेमेंट पर हो जाए और आपको टिकट फिर भी ना मिले.  दो आईआरसीटीसी के सर्वर आईडेंटिफाई कर लेते हैं,  कि किस प्रकार के पेमेंट फेल हो चुके हैं या फिर उनके टिकट बुकिंग नहीं हुई है. 

 यदि आपके टिकट बुकिंग नहीं हुए और आपने पेमेंट कर दिया है तो फिर आपका पेमेंट 2 से 7 दिनों के बीच में आपके उसी अकाउंट में वापस चला जाएगा.  लेकिन यदि आपने बुकिंग कर रहे थे और आपका पेमेंट नहीं हुआ तो उस केस में सिर्फ सरवर दिखाएगा और टिकट नॉट बुक्ड आपको ऐसा मैसेज आएगा.  इस कंडीशन में न तो आपका कोई नुकसान हुआ और ना ही आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर किसी भी प्रकार की कंफर्म बर्थ  दी गई.  यह कंडीशन आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर किसी भी प्रकार के नुकसान को स्थापित ना करना कहलाता है.

 हालांकि यदि फिर भी आपको किसी प्रकार की कठिनाई होती है तो आप कस्टमर सर्विस सपोर्ट पर कॉल करोगे या तो फिर दिए गए चाटबॉट पर संपर्क कर सकते हैं. 

तत्काल टिकट की बुकिंग के समय  आईआरसीटीसी के सर्वर क्यों डाउन हो जाते हैं?  जबकि दलालों के टिकट बुक हो जाते हैं?

 यह एक ऐसा क्वेश्चन है जो कि सभी लोग,  अपने सवालों के दौरान हमसे पूछते हैं.  वह कहते हैं कि सर जब मैं दलाल के तहत टिकट बुक कर आता हूं तो हमारे पास टिकट कंफर्म आ जाती है जबकि उसी समय समय पर हम आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर स्वयं से टिकट बुक करने की कोशिश करते हैं तो या तो हमारी पेमेंट फेल हो जाती है या तो  आईआरसीटीसी साइट डाउन हो जाती है , और सबसे आखरी में या तो फिर हमारी टिकट ही कंफर्म नहीं होती है.

 जबकि हम दलाल के द्वारा तत्काल टिकट बुक कराते हैं तो न जाने कैसे उनकी कंफर्म टिकट और आपकी मनचाही सीट आपको मनचाहे ट्रेन में मिल जाते हैं.  क्या इसका कोई सीक्रेट है?

दलालों का अलग तरह के सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करना आईआरसीटीसी की ऑनलाइन टिकट बुकिंग के लिए

आजकल मार्केट में बड़े-बड़े साइबर क्रिमिनल,  सॉफ्टवेयर डेवलपर और अलग तरह के पैकेज इसको दलालों को बेचा जाता है.  यह सॉफ्टवेयर के तहत दलाल अपने कई सारे क्रेडिट कार्ड अकाउंट और ऑनलाइन टिकट बुकिंग के महत्व को ऑटो फिलिंग सिस्टम मेथड के द्वारा,  तत्काल बुकिंग के समय अपने आप को तैयार रहते हैं.

 इनकी यह सॉफ्टवेयर इतने लाइटवेट होते हैं  कि यह सारी चीजें ऑटोमेटिक कर देते हैं.  जो कि एक साधारण इंसान आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाता है और वह अपना अकाउंट लॉगइन करता है उसके बाद वह ट्रेन की टिकट के बारे में गंतव्य स्थान डाल करके सर्च करता है.  इसकी मांग करता है कि टिकट कंफर्म है या नहीं अगर स्थान होता है तो वह बुक नाउ बटन पर क्लिक करता है.  इसके बाद उसे अपनी डिटेल भरनी होती है जिसमें कि उसे 1 मिनट का समय लग जाता है.

एक नॉर्मल व्यक्ति इसके बाद पेमेंट मेथड पर जाता है और अप्लाई करता है.  जिसमें इरेलीवेंट वेबसाइट पर वह अपने पेमेंट मेथड को यूज करना चाहता है वह करता है और फिर उसके बाद पेमेंट सक्सेसफुल होती है और वेबसाइट बुकिंग के लिए कंफर्म पेज के लिए दोबारा वापस आती है.  इस पूरे प्रोसेस और समय में तकरीबन 3 से 5 मिनट का समय लग जाता है जबकि,  आईआरसीटीसी के दलाल अपने सॉफ्टवेयर के द्वारा यह काम एक ही समय पर कई यात्रियों के लिए करते हैं और कई पेमेंट मेथड को एक ही समय पर इस्तेमाल करते हैं.

 आईआरसीटीसी के सॉफ्टवेयर की वजह से उन्हें लोगों का इंफॉर्मेशन फिट करने में काफी कम समय लगता है जिससे कि उनका वह समय बचता है और वह यह काम तकरीबन 10 सेकंड के भीतर कर देते हैं अगला जो मेथड होता है पेमेंट का इसमें उनके ऑलरेडी लिंक अकाउंट होते हैं जिससे कि क्लिक करने पर ही पैसा ऑटो कट हो जाता है जो कि दोबारा उनके तकरीबन 30 सेकंड के समय में ही यह प्रोसेस पूरा कर देता है.  जिसकी वजह से एक नॉर्मल हो जहां 3 से 5 मिनट का समय लगता है वही एक दलाल को एक टिकट बुक करने में तकरीबन 30 सेकंड का समय अधिकतम लगता है.

 उनके सॉफ्टवेयर लाइटवेट होते हैं आईआरसीटीसी के वेबसाइट से जुड़े होते हैं,  इसी वजह से उन्हें टिकट बहुत आसानी से और जल्दी मिल जाते हैं.  हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह सवाल का जवाब पसंद आया होगा.

आईआरसीटीसी की वेबसाइट के सॉफ्टवेयर कितने के मिलते हैं?

हालांकि हमें भी इसकी सही सही जानकारी नहीं है लेकिन एक न्यूज़पेपर के अनुसार यह बताया गया कि आईआरसीटीसी के सॉफ्टवेयर जोगी दलाल इस्तेमाल करते हैं तकरीबन ₹5000 से लेकर के ₹8000 तक में मिलते हैं.

यह एक बहुत बड़ी दलाली और एक बड़ा मार्केट है जो कि इस वक्त सभी ऑनलाइन साइबर कैफे के दलाल कर रहे हैं. 

आईआरसीटीसी टिकट बुकिंग के  जालसाजी से बचने के लिए सरकार क्या कर रही है?

इस प्रकार की ऑनलाइन टिकट दलालों से बचने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है और नए नए नियम लागू कर रही है.  इनमें विभिन्न प्रकार की नियम शर्ते लागू है:

  • एक व्यक्ति केवल एक समय पर दो ही टिकट बुक कर सकता है और हफ्ते में अधिकतम केवल 7
  • जो भी टिकट बुकिंग कर रहा है उसे अपने आधार पहचान पत्र को बताना होगा
  • हर व्यक्ति का यूजर अकाउंट उसके मोबाइल के s.m.s. वेरिफिकेशन के बाद ही एक्टिवेट हो रहा है

 भारतीय रेलवे हर प्रकार की समाधान की कोशिश कर रहा है और धीरे-धीरे इस प्रकार की जालसाजी से लोग बच भी रहे हैं जिसकी वजह से अब भारतीय वेबसाइट आईआरसीटीसी काफी फास्ट हो गई है और लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.

 हर की विधाओं में अनेक प्रकार की समस्याएं होती हैं लेकिन इन समस्याओं को दूर करके आगे बढ़ने वाला ही विजेता होता है.  अपनी इसी कदर और इसी प्रकार की सोच के साथ आईआरसीटीसी वेबसाइट नित्य नए-नए आयाम लिख रही है और भारतीय रेलवे के राजस्व में लगातार वृद्धि कर रही है.

 आईआरसीटीसी वेबसाइट के कारण ही  महामारी आई तो यह सबसे बड़ा संसाधन में ना कि बिना किसी के कांटेक्ट में आए व्यक्ति अपने टिकट की बुकिंग कर सकता है और आज एक साधारण मानव भी कहीं पर भी रह कर के बिना  रेलवे की टिकट काउंटर पर गए बिना अपना काम कर सकता है.

 इसकी वजह से भारतीय पर्यटन में भी एक बहुत बड़ा उछाल आया है साथ ही साथ भारत की मोदी सरकार ने कई सारे नए प्रोजेक्ट्स को भी लागू किया है.   भारतीय पैटर्न में इजाफे का एक बहुत बड़ा कारण आज की ट्रेनों का समय पर चलना,  उनकी तीव्रता और उनकी साफ-सफाई है.  जो सुविधाएं पहले एयरपोर्ट मिलती थी अब वही सुविधाएं भारतीय रेलवे स्टेशनों पर मिल रही है.

 स्वच्छता एक बहुत बड़ा मुद्दा था जिसे कि भारतीय रेलवे ने बहुत ही कुशलता के साथ आया है. 

travelbrandindia
Social