UP Election 2022 Image

UP Election 2022 | Uttar Pradesh Assembly Elections Predictions & Date

This article is all about UP election 2022 with brief about result dates, predications. How many total seats are availed? What kind of scores from opinion polls? What comments are running on Quora? What is astrology team prediction for results? How can Uttarakhand elections 2022 will be affected with the results of the Uttar Pradesh election 2022 results? What will be the effect of Modi govt. campaign for assembly election of India in 2024? This blog will answer all your queries below:

Contents hide

What do you think?

In up election 2022, many people are talking about the up election result. We have seen up election 2022 predictions on various news channels and up election opinion polls which has led to some good up elections coverage in the media. But what is your opinion? What do you think will be the winners of up election 2024? Let us know by commenting below!

UP Election 2022 Date (Uttar Pradesh)

The up election 2022 has been announced and the date is set. The up elections are expected to be held in between February – March 2022, but there is no official confirmation on this matter yet. There are many speculations about up election 2022. But what really matters?

  • How many total seats will be available for up election 2022?
  • What kind of opinion polls have come out so far?
  • What is astrology prediction for up election 2022?
  • Will uttar pradesh assembly results affect Uttarakhand Assembly Election 2022 Results ?

Current Status of UTTAR PRADESH ELECTION 2022

The up election 2022 is fast approaching and the political parties are gearing up for it.

The up election 2022 will be held in India on February to March. The up election 2022 is the fight for power between Bharatiya Janata Party (BJP) led National Democratic Alliance (NDA) and Indian National Congressled United Progressive Alliance(UPA).

BSP (Bahujan Samaj Party) and SP (Samajwadi Party) have announced their few candidates for up election 2022.

Political parties are already gearing up to contest and rally the up elections of 2024 as they know that a good performance in up election will help them increase visibility on national stage before Lok Sabha elections 2024. The up election is scheduled to be held between February-March.

How many total seats will be available for up election 2022?

Total seats available for up elections are 403 (four hundred and three).

What kind of up election score from opinion polls?

There are various registered political parties in India and they will fight vigorously for up elections 2022. BJP-led NDA is eyeing to win more than 330 seats, Congress Party just wants to maintain its previous performance with the hope that Mr Gandhi’s charisma can help it retain power at least by a margin.

UP election preparations

The up elections of 2022 will take place in seven phases from 11th February to 19th March, the voting for all the constituencies will be done during this period and result date is 17th March. During these days a lot of campaigning happens where parties try to woo their voters so that they can win up election 2022.

Who will be the winner of up elections?

The opinion poll result shows that BJP will emerge as a single largest party with 185-205 seats whereas Indian National Congress might get 50-70 seats and others may follow up score from opinion polls like BSP (Bahujan Samaj Party), SP, RLD, AAP etc.

What up Uttar Pradesh election comments are running on Quora?

BJP is trying hard to win up elections of 2022 and it has projected Narendra Modi as its Prime Ministerial candidate for up election 2024. However Aditya nath yogi is leading up election campaigning for up elections 2022. BJP will surely try to form government at the center with help from allies after up elections results 2019 but there are less chances that it will be successful.

What up election astrology prediction?

Astrological predictions suggest that the 2014 up elections was a landmark for Modi and Yogi (current chief minister of Uttar Pradesh) as he successfully spearheaded BJP’s campaign and formed government at center with NDA allies, but now it is going to be little difficult for them because of various reasons like lack of majority in Rajya Sabha, upcoming up elections 2022, etc.

What Uttarakhand election will be affected with the results of Uttar Pradesh election?

Uttar Pradesh is a politically crucial state in India because it sends maximum number of MPs to Lok Sabha so BJP’s. Success in up elections 2022 will have its ripple effects on other upcoming polls like Uttarakhand election 2022, Bihar elections and the final battel of assembly election of India 2024.

Who will be the main face of Uttar Pradesh Election 2022?

Rahul Gandhi is the main face up elections 2022 of Congress party. However, BJP has projected Yogi Aditya Nath as CM (chief minister) & Narendra Modi as its Prime Ministerial candidate for Assembly election 2024.

What will be the effect of modi campaign for up assembly election?

Modi’s campaigning skills are widely known and he successfully won 2014 up elections but this time his charisma may not work and up elections 2022 results will give a tough fight to BJP.

UP Bidhansava Election 2022 Date

Uttar Pradesh Vidhansabha 2022 is scheduled to be held in seven phases. The up Bidhansava Election is scheduled to be conducted on 11th, 15th and 19th February 2022, 23rd March up election result dates (phase-IV), 27th March up election result dates (phase-V) & 30th April up election result dates 2022(final phase).

Note: These are tentative dates. Not confirmed by election commission. All from local news channel videos or assumption. We are not liable for any mismatch. Kindly use the verified sources for correct date details.

Can Priyanka Gandhi Next Congress and Uttar Pradesh Chief?

Priyanka Gandhi is the up Uttar Pradesh chief for Congress, the up elections 2018 are slated for up election 2022. However up election predictions show that congress is losing popularity among young voters and they may not repeat up assembly results of 2017.

Robert waddra’s up election prediction of up assembly 2022 states that BJP might form government at center with help from allies after up assembly results of up elections 2020 but there are less chances that it will be successful.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के बारे में विस्तृत जानकारी हिंदी में (भविष्यवाणियां और तारीख)

इस बार का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 लोगों के बीच में काफी लोकप्रिय होने वाला है और जहां तक उम्मीद है कि यह अत्यंत ही प्रतिस्पर्धा वाला होगा. इसका मुख्य कारण यह है कि आदित्यनाथ योगी, जो कि भारतीय जनता पार्टी के इस वक्त के चीफ मिनिस्टर या मुख्यमंत्री के रूप में विराजमान है.

उनके सामने अन्य पार्टियां जैसे कांग्रेस जिनका कि इस वक्त पूरे भारतीय राजनीति समाज में पतन हो रहा है किंतु अपनी नई स्टडी के तहत, महिला कार्ड को खेलते हुए. माननीय राहुल गांधी जी को पीछे करके अब प्रियंका गांधी जी को उत्तर प्रदेश अध्यक्ष की कमान दे दी गई है. जिसके लिए प्रियंका गांधी लगातार ग्रेटर नोएडा, लखीमपुर खीरी और अन्य क्षेत्रों में कार्यरत हैं. और लोगों की सुर्खियां बटोरने के लिए हर प्रकार की प्रतिस्पर्धा में शामिल हो रही है.

इसी प्रकार की प्रक्रिया के तहत एक और महिला जो कि इस वक्त भारतीय समाजवादी पार्टी की मुखिया और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री भी रह चुकी बहन मायावती भी इस वक्त मुस्लिम वोटों के साथ-साथ, हिंदू वोटों के लिए भी पूरी ताकत लगाने की कोशिश कर रही है. जहां उन्होंने एक तरफ अपने मुख्य सलाहकार सतीश को हिंदू और ब्राह्मण वोटों के लिए मैदान में उतारा है. वहीं दूसरी तरफ व स्वयं अनेक रोजा इफ्तार और मुस्लिम समाज के धार्मिक कार्यों में लगातार शरीफ हो रही हैं. इसके साथ ही साथ उन्होंने अब तक तीन बड़ी रैलियां की है जो कि उनके अपने समाज को लुभाने के लिए था.

ऐसे समय में समाजवादी पार्टी के मुखिया जो कि इस वक्त अखिलेश यादव जी हैं. अपनी शिवपाल सिंह यादव और अपने माननीय पिताश्री मुलायम सिंह यादव जी के अनुसार पार्टी को कार्यान्वित कर रहे हैं. अखिलेश यादव के उत्साह का मुख्य कारण, प्रधान चुनाव और ब्लाक प्रमुख के चुनाव में समाजवादी पार्टी की जीत का अंश शामिल है. इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी अपने और भी कई सारे उम्मीदवार उतारने की कोशिश में है जहां पर उसका पुलिस के क्षेत्र में उन्होंने अधिकतम यादव समाज के लोगों का सरकारी नौकरियों द्वारा उद्धार और टीचिंग विभाग में महिला समाज की प्रमुख नौकरियों जीतने की शिक्षा शामिल है.

इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी के भी, इस उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में उतरने की पूरी संभावना है और इस बार संजय सिंह के साथ माननीय केजरीवाल जो कि दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं उन्होंने भी बिगुल फूंक दिया है. ऐसा इसलिए क्योंकि भारतीय समाजवादी पार्टी, समाजवादी पार्टी और कांग्रेसी चाहती है उन्हें किसी एक और ऐसी पार्टी का सहारा मिले. जिससे कि वह अपने वोटों की संख्या को या तो गिरा सके या तो खींच सके या तो फिर उनके साथ जुड़ सकें. आम आदमी पार्टी केजरीवाल, इस प्रकार के समझौतों को पहले भी किया है और जोड़-तोड़ की राजनीति शामिल रहे.

इसी कड़ी में एक और बड़ी मुस्लिम पार्टी जो कि इस वक्त दक्षिण भारत में काफी सक्रिय है, AIMM (ऑल इंडिया मजलिस ईद उल मुस्लिमीन) असदुद्दीन ओवैसी के साथ इस भारतीय राजनीति के उत्तर प्रदेश 2022 प्रकरण में शामिल हो रही है. ओवैसी को अमित शाह का सबसे बड़ा विरोधी माना जाता है. लेकिन कई प्रकार की पार्टी यह भी कहती है कि यह बीजेपी का ही ट्रम्कार्ड है जो कि वह अपने आप को मुस्लिम वोटों के साथ जोड़ने के लिए करते हैं जिससे कि ऐसा लगता है कि भारतीय समाजवादी पार्टी हिंदुओं के लिए है और ओवैसी मुस्लिमों के लिए लेकिन जबकि सच्चाई यह है कि दोनों एक ही पार्टी के सिक्के के पहलू हैं. लेकिन सच्चाई से उलट इस बार हैदराबाद के बाद अगला कदम रखते हुए मुस्लिम को अपनी तरफ खींचने का बिगुल बजा दिया है.

आने वाला उत्तर प्रदेश इलेक्शन 2022 बहुत ही शानदार होने वाला है और यह अत्यंत रोचक होना है. आने वाली सारी अपडेट आपको हमारे इस पोर्टल के लाइव स्ट्रीम डाटा पर मिलेगी. यदि आपको किसी पर विधायक जो कि आपके क्षेत्र में खड़ा हो रहा है. जानकारी के लिए पूरा डिटेल आपको मिलेगा.

आपकी क्या विचार है आने वाले उत्तर प्रदेश इलेक्शन 2022 के बारे में कृपया हमें साझा करें. अगर यह पोस्ट आपके लिए अच्छा लगा अपने साथियों के साथ शेयर करें.

हमें उम्मीद है कि आप यह आर्टिकल भी पसंद करेंगे:

उत्तर प्रदेश इलेक्शन 2022 के बारे में भविष्यवाणियां की कौन जीतेगा?

जैसे ही राजनीति का समाचार हमारे भारतीय समाज में मिलता है लोगों का सबसे पहला क्वेश्चन यह होता है कि कृपया भविष्यवाणी के थ्रू यह बताइए कि इस बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 कौन जीतेगा?

इस प्रक्रिया में कई सारे एस्ट्रोलॉजर और कई सारे पंडित लोगों के धंधे शुरू हो जाते हैं. हालांकि यह होना भी चाहिए क्योंकि समाज है और समाज में हर प्रकार का बिजनेस जरूरी है. लेकिन कई बार भविष्यवाणियां सटीक और सजग भी होती है. आने वाले समय की गणित के अनुसार, कई सारे भविष्यवक्ता और पंडित यह समझ जाते हैं कि आने वाले समय में किस की कुंडली का जोर ज्यादा है और कौन राज्यों के तरफ पड़ेगा?

आइए जानते हैं कि इस प्रकार की गणित इस बार भविष्यवाणी के रूप में क्या कहते हैं?

इस बार की गणित के अनुसार भविष्य कथा का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में हिंदू-मुस्लिम अंको से ज्यादा इस बार किए गए विकास कार्यों की गिनती ज्यादा होगी. क्योंकि यह पहला ऐसा 5 साल था जिसने की आखिर के 25 सालों के किए गए कार्यों के बराबर खर्च हुए और उनका जन्म हुआ और समापन भी. जैसे कि कई सारे तालाब का बनना, सड़क निर्माण कार्य, सरकारी दफ्तरों में समय से आने जाने की प्रक्रिया का लागू होना, निष्पक्ष कार्यान्वयन, दिए गए समय पर कार्य का होना, गुंडे और अराजक तत्वों का का नरसंहार, कानून व्यवस्था को नई टेक्नोलॉजी के साथ जोड़ना, किसान और गरीब तबके के लोगों को समाज की मूलभूत सुविधाओं तक पहुंचाना, Corona की स्थिति को संभाले रखना, और भी कई कार्य जो कि भारतीय समाज की सबसे बड़ी राज्य की जनसंख्या इकाई है, संभालना और देखना.

इन सभी कार्यों में नरेंद्र मोदी जी के साथ आदित्यनाथ योगी मिलकर काम किया है और जिस प्रकार अब के हो रही रैलियों पर भारतीय जनता पार्टी की इस सरकार को double इंजन की सरकार के रूप में आगे लेकर जा रही है. यह मानना पड़ेगा कि नरेंद्र मोदी और आदित्यनाथ योगी अपनी मार्केटिंग स्ट्रेटजी में बहुत ही महारत हासिल कर रखे हैं और वह जानते हैं कि उन्हें कब क्या कहना है.

हालांकि दूसरी कड़ी में उनकी विरोधी पार्टी के नेता राहुल गांधी को यह नहीं पता है कि नहीं क्या नहीं कहना. इसीलिए इस बार प्रियंका गांधी को आगे ले आकर उनकी क्षमता का इस्तेमाल किया जा रहा है और यह देखना है और जहां तक उम्मीद है कि कांग्रेस इस बार पहले की अपेक्षा ज्यादा बेहतर स्थिति में हो सकती है.

वहीं पर समाजवादी पार्टी अपनी साइकिल पर सवार है और वह चाहते हैं कि उनके यादव समाज और उनकी ओबीसी कार्ड का पूरा का पूरा फायदा उठाया जाए और साथ ही साथ ब्राह्मण समाज में एक अलग पैड बनाई जाए. इसीलिए इस वक्त अखिलेश यादव लगातार चंदौली, मुगलसराय, मुजफ्फरनगर, मुजफ्फरपुर, नवादा, रायबरेली, सहारनपुर सहित तकरीबन 38 जिलों में जाकर अपनी रैलियां शुरू कर चुके हैं. और हो रहे किसी भी प्रकार के कारण जैसे कि लखीमपुर कांड घटना पर अपनी पूरी राय और सक्रियता दिखा रहे हैं.

वह इस कड़ी में अन्य पार्टी है जैसे कि बहुजन समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, ओवैसी की अभी अभी नई बनी पार्टी, अनुप्रिया पटेल और अन्य कई लोकल नेता सक्रिय हो गए हैं.

उत्तर प्रदेश इलेक्शन 2022 की डेट क्या है और उसका फाइनल परिणाम कब आएगा?

यह कैसा क्वेश्चन है जो कि इस वक्त की गूगल खोज का एक बड़ा हिस्सा है. इस वक्त सभी यह जानना चाहते हैं कि आखिर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की अग्रिम तारीख क्या होने वाली है.

आइए हम आपको सबसे पहले बताते हैं कि उत्तर प्रदेश इलेक्शन 2022 की फाइनल डेट होगी वह कौन सी होगी. सूत्रों और कई बड़े न्यूज़ चैनल के अनुसार, 2022 उत्तर प्रदेश इलेक्शन इस बार, 16 फरवरी से लेकर के 18 मार्च 2022 तक संपन्न होगी जिनमें की आठ चरण की संभावना है.

इन 8 चरणों में सभी विधानसभा क्षेत्रों को चुनाव के द्वारा संपादित किया जाएगा और 22 मार्च 2022 को फाइनल नतीजे आने की उम्मीद है. हालांकि यह डेट अभी सिर्फ टेंटेटिव है, यानी किस तरफ संभावित है यह अभी चुनाव आयोग के द्वारा घोषित नहीं की गई है.

कृपया हमारे साथ सटीक चुनाव की तारीखों के लिए जुड़े रहे और हमारे इस आर्टिकल को लगातार रिफ्रेश और रेट करते रहे.

travelbrandindia
Social